Search

आगरा में वीणा जैन को जैनेश्वरी दीक्षा के बाद मिला पुरुषार्थ श्री माताजी नाम


जिला मुख्यालय निवासी वीणा जैन का जैनेश्वरी दीक्षा कार्यक्रम आगरा के बेलनगंज स्थित जैन मंदिर में आचार्यश्री 108 चैत्य सागर महाराज के समक्ष संपन्न हुआ। कार्यक्रम में आचार्य श्री 108 चैत्य सागर जी महाराज के समक्ष जैन ईश्वरी दीक्षा ग्रहण की। इस अवसर पर राष्ट्रसंत मुनि प्रत्यय सागरजी महाराज सहित कई जैन मुनि उपस्थित थे।

दीक्षा कार्यक्रम से पूर्व केश लोचन का कार्यक्रम हुआ। इस अवसर पर करौली जैन समाज के अलावा आगरा जैन समाज के सैकड़ों की संख्या में महिला पुरुष उपस्थित थे। केश लोचन कार्यक्रम को देखते हुए लोगों की आंखें नम हो गई। संत चैत्य सागर जी महाराज ने कार्यक्रम के तहत वीना जैन को जैनेश्वरी दीक्षा ग्रहण विधि विधान व पूजा अर्चना के साथ संपन्न हुआ। कार्यक्रम की समाप्ति पर वीणा जैन को जैन मुनियों ने बिछी कमंडल भेंट करते हुए उनका नाम संस्कार किया गया। जैन मुनियों ने वीणा जैन का नाम बदल कर पुरुषार्थ श्री माताजी रखा गया।

सेवानिवृत्त के बाद वैराग्य की राह

गौरतलब है कि जिला मुख्यालय के साईनाथ खिडकिया निवासी स्व.कैलाश जैन की पत्नी वीणा जैन प्रधानाचार्य पद से सेवानिवृत्त के बाद वैराग्य की राह ओर सशक्त होती चली गई। उनके परिवार में चार पुत्र राकेश, मुकेश, विवेक और विकास सहित 3 पौत्र, 6 पौत्रियां एवं दो देवर, तीन ननद आदि से संपन्न परिवार है। वहीं पीहर पक्ष में तीन भाई डॉक्टर बृजेश, जिनेश जैन रिटायर्ड सेल टैक्स, सुदेश जैन एसबीआई बैंक से रिटायर्ड एवं एक छोटी बहन सुमन जयपुर प्रिंसिपल पद से सेवानिवृत्त हैं।