Search

जैन मंदिरों में चोरी करने वाला गिरफ्तार


मुंबई जैन मंदिरों को निशाने बनाते हुए मूर्तियों के आभूषण चोरी करने वाले एक आरोपी को घाटकोपर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास से चोरी के आभूषण बरामद कर घाटकोपर और अंधेरी के जैन मंदिरों में हुई चोरी का मामला सुलझाने का दावा किया है। घाटकोपर पुलिस ने नरेश अगरचंद जैन (40) को गिरफ्तार किया है। घाटकोपर के नवरोजी क्रॉस लेन पर मुनिश्वर स्वामी मंदिर है। इस मंदिर से 24 अप्रेल की सुबह मुनिश्वर स्वामी का दो किलो वजनी चांदी का मुकुट चोरी हो गया था। मूर्ति का आभूषण चोरी होने के बाद जैन समाज के साथ ही आसपास के परिसर में काफी रोष था। मामले को गंभीरता से लेते हुए वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक अंकुश काटकर, पुलिस निरीक्षक विलास दातीर के मार्गदर्शन में एक टीम बनाई गई। पुलिस टीम ने मंदिर में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की। इसमें पता चला कि टोपी पहने व्यक्ति ने मंदिर से मुकुट की चोरी की है। इसके बाद पुलिस ने सप्ताह भर का फुटेज चेक किया। पता चला कि चोरी की घटना से तीन दिन पहले आरोपी बार-बार मंदिर आया था। चोरी से पहले आरोपी ने अच्छी तरह से मंदिर की रेकी की थी। इसके बाद पुलिस ने भुलेश्वर निवासी नरेश जैन को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में नरेश ने कबूल किया कि उसने घाटकोपर और अंधेरी के जैन मंदिर में चोरी की थी। उसके पास से चोरी के आभूषण भी बरामद कर लिए गए।


कैप से ढक लेता था चेहरा

नरेश कुख्यात चोर है। चोरी से पहले वह मंदिरों की रेकी करता था। मंदिर में सीसीटीवी कैमरा होने पर वह कैप से अपना चेहरा ढक लेता था। जैन मंदिर में किस तरह से रहना चाहिए, इसकी जानकारी उसे है। इसलिए उस पर जल्दी किसी को संदेह भी नहीं होता था।


कई थानों में केस दर्ज

नरेश के खिलाफ भायखला, आग्रीपाड़ा, कालाचौकी, एलटी मार्ग, आजाद मैदान, वडाला और अंधेरी पुलिस स्टेशन में चोरी के मामले दर्ज हैं। वह खुद जैन समाज का है और सिर्फ जैन मंदिरों में ही चोरी करता था। उसने पुलिस को बताया कि मंदिरों में चोरी करना आसान है। साथ ही मूर्तियों के आभूषण आसानी से बिक जाते हैं।