Search

Mumukshu Sarita Pahadia's Diksha on 11th July

नागौर निवासी बंगाईगांव प्रवासी अशोक पहाड़िया की धर्मपत्नी सरिता पहाड़िया की भव्य जैनेश्वरी दीक्षा 11 जुलाई को बंगाईगांव असम में गरिमामती एवं गंभीरमती माता के सानिध्य में होने जा रही है।

इसी उपलक्ष्य में सकल दिगंबर जैन समाज, नागौर द्वारा दीक्षार्थी सरिता पहाड़िया की बंदोली निकाली गई जो कि श्री आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर, लंबी गली से रवाना होकर शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए चंद्रप्रभु दिगंबर जैन बड़ा मंदिर में संपन्न हुई। शहर में जगह जगह पर दीक्षार्थी का माला पहनाकर, पुष्प वर्षा कर एवं उनकी खोल भरकर अभिनंदन किया गया । जुलूस का समापन चंद्रप्रभु दिगंबर जैन बड़ा मंदिर में हुआ। जहां दीक्षार्थी एवं उनके परिवार का समाज द्वारा बहुमान किया गया। पारुल बड़जात्या द्वारा मंगलाचरण कर कार्यक्रम का आरंभ किया गया। भारती बड़जात्या ने दीक्षार्थी के जीवन पर प्रकाश डाला।

दीक्षार्थी सरिता पहाड़िया ने अपने उद्बोधन में कहा की एक मनुष्य जीवन ही ऐसा है जिसमें हम संयम का मार्ग अपनाकर अपने जीवन का कल्याण कर सकते हैं।