Search

बातें करना सरल है लेकिन उसे अपनाना मुश्किल है - जैन मुनि हितेशचंद्र विजय


कोयम्बत्तूर.


मुनि हितेशचंद्र विजय ने कहा कि बातें करना सरल है लेकिन उसे अपनाना मुश्किल है। सुपाश्र्वनाथ जैन आराधना भवन में मंगलवार को धर्मसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अक्सर लोग बातें तो ऊंची करते हैं लेकिन बाद में उन पर अमल नहीं करते क्योंकि उन बातों को अपनाना मुश्किल है। मानवीय बनने के लिए प्रत्येक इंसान को श्रद्धावन और विवेकवान बनना जरुरी है। जिसके भीतर में रस नहीं वह फूल कै से खिलेगा। उन्होंने कहा कि अच्छी बातें सभी करते हैं लेकिन भक्ति के बिना कोई कैसे झुकेगा। जीवन को फूल बनाएं, धूल नहीं। उन्होंने कहा कि भगवान से कुछ मत मांगो। बिना मांगे सब मिल जाता है। उन्होंने कहा कि भगवान के नियमित पाठ से भय, भव व क्षम मुक्त बनते हैं। भगवान सभी को भय मुक्त कर कर्म बंधन से मुक्ति दिलाते हैं।