Search

सूरत में दो जैन मुमुक्षुओं की शोभा यात्रा फरारी कार में निकाली गई, 12 फरवरी 2020 के दिन लेंगे दीक्षा


गुजरात: सूरत में शुक्रवार सुबह दो जैन मुमुक्षुओं की शोभायात्रा फरारी कार में निकली गई. 12 साल का जिनल विमलकुमार परीख और 21 साल का कामेश प्रकाश जैन 12 फरवरी 2020 के दिन जैन दीक्षा लेंगे. दोनों के परिजनों ने दीक्षा मुहूर्त के लिए फरारी कार में शोभायात्रा निकाली. ये वही फरारी कार है जो पहले भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के पास थी और बाद में इसे सूरत के बिल्डर ने खरीद लिया था.


बता दें कि इससे पहले भी सूरत के ही एक हीरा कारोबारी के 12 साल के बेटे की शोभा यात्रा इसी तरह निकाली गई थी. उस नन्हें सन्यासी का नाम भव्य शाह था. इनके पिता दीपेश शाह सूरत के बड़े हीरा कारोबारी हैं. अकूत दौलत और सुख सुविधाओं की कोई कमी नहीं है. इसके बावजूद 12 साल का भव्य संन्यास की राह पर चल पड़ा. उसे खेल-खिलौने के दौर में आध्यात्म भाने लगा है.


इन दोनों से पहले इसी साल 23 जुलाई को सूरत की स्तूती शाह ने भी इसी फरारी में अपनी शोभा यात्रा निकाली थी. उन्होंने जैन परंपरा के तहत सन्यास लिया था.


सचिन ने बेच दी थी फरारी

दरअसल जिस फरारी की बात हो रही है वह सचिन को फॉर्मूला वन चैम्पियन माइकल शुमाकर ने गिफ्ट की थी. उसी वक्त से सचिन की फरारी चर्चा में थी. सचिन ने इसे बाद में सूरत से व्यपारी जयेश शाह को बेच दी थी.

Recent Posts

See All

4 Digambar Diksha at Hiran Magri Sector - Udaipur

उदयपुर - राजस्थान आदिनाथ दिगम्बर चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा 15 अगस्त को आचार्य वैराग्यनंदी व आचार्य सुंदर सागर महाराज के सानिध्य में हिरन मगरी सेक्टर 11 स्थित संभवनाथ कॉम्पलेक्स भव्य जेनेश्वरी दीक्षा समार